Jalebi Kaise Banti Hai - जलेबी बनाने की विधि - Jalebi Banane Ki Vidhi

Jalebi Kaise Banti Hai: भारतीय मिठाइयों की श्रेणी में, जलेबी एक प्रमुख स्थान में रखती है। यह Jalebi Banane Ki Vidhi आपको सबसे अच्छी जलेबी बनाने में सहायक है। यहां एक कुरकुरा, रसदार और जलेबी बनाने का आसान तरीका है और जलेबी के स्वाद और बनावट समान है हलवाई जैसी जलेबी मिलती है।

Jalebi Banane Ki Recipe भारतीय व्यंजनों की एक लोकप्रिय मिठाई है। यह सभी मिठाई की दुकानों में बेचा जाता है और यह एक स्ट्रीट फूड भी है।

Jalebi Kaise Banti Hai

    Jalebi Kaise Banti Hai

    परंपरागत रूप से कुरकुरी Jalebi Kaise Banti Hai बनाने के लिए, मैदा, बेसन, बेकिंग सोडा और पानी के किण्वित घोल से बनाई जाती है। कुरकुरा रसदार और हल्की Jalebi Banane Ka Tarika बैटर की स्थिरता है।

    हलवाई जैसी जलेबी बनाने की विधि किण्वित घोल को फिर बैटर को गरम तेल में स्पाइरल(Spiral) या कंसेंट्रिक सर्कल्स(Concentric Circles) में डाल दिया जाता है। उन्हें कुरकुरा होने तक तला जाता है।

    फिर इन तले हुए जलेबी को चीनी की चाशनी में कुछ मिनट के लिए भिगोया जाता है और बाद में परोसा जाता है।अंतिम परिणाम एक रसदार और कुरकुरे जलेबी होता है।

    बेसन की जलेबी कैसे बनाएं बनने के 2 तरीके

    1. 15 Jalebi Kaise Banti Hai, इसे तरीके में घोल तुरंत बनाया जाता है और फिर तला जाता है। बैटर की किण्वन नहीं किया जाता है इसमें। तो इस जलेबी बनाने का तरीका में जलेबियों में खट्टा खट्टा स्वाद महसूस होने के लिए दही और नींबू का रस का उपयोग किया जाता है।

    2. दूसरी Jalebi Banane Ki Vidhi में, बैटर को किण्वन के लिए 12 से 14 घंटे या 24 घंटे (तापमान पर निर्भर करता है) के लिए रखा जाता है। खमीर वाली बेसन और मैदा की जलेबी बनाने की विधि में घोल को किण्वित करते समय दही भी मिलाते हैं।

    पारम्परिक रूप से Jalebi Kaise Banti Hai बनाने के लिए किण्वन बैटर को थोड़ा खट्टा बनाता है और इसलिए जलेबी में वह विशिष्ट खट्टा स्वाद होता है, जो हमें तब मिलता है जब हम उन्हें मिठाई की दुकानों से खरीदते हैं। 

    मैंने इस पोस्ट में 2 Jalebi Banane Ki Vidhi के टिप्स साझा किए हैं।

    Jalebi Kaise Banate Hain
    Jalebi Kaise Banate Hain

    1. आपको एक पंचक ने वाली सॉस की बोतल या Zip Lock Bag की आवश्यकता होगी। नुकीले सिरे वाला दवासाज़(Dispenser) बेहतर काम करता है।

    आगे बढ़ने से पहले तय करें कि किस पद्धति का पालन करना है। जलेबी का खमीर बनाने की विधि का मैंने पालन करते हुए कुछ बार किया, परिणाम अच्छे थे लेकिन मेरे लिए योजना का पालन करना और प्रतीक्षा करना जैसे कठिन है।

    इसलिए मुझे तुरंत बनाने की विधि पसंद है। मुझे लगा हे कि दही मिलाने से जलेबी में थोड़ा खट्टा स्वाद आ जाता है

    अगर आप किण्वित विधि से बनाना पसंद करते हैं, तो पिछली रात को हैं घोल बना लें। जलेबियों को तलने से पहले चाशनी बना लें। यदि तुरंत बनाने की विधि का पालन कर रहे हैं तो नीचे बताए गए क्रम में दिए गए Steps का पालन करें।

    Jalebi Ki Chashni Kaise Banti Hai

    2. जलेबी की चाशनी बनाने की विधि के लिए एक बर्तन में चीनी डालें। कच्चे लोहे के कढ़ाई से बचें उपयोग न करे। इसे चाशनी जल्दी से सूखे के ठोस बन जाता है।

    3. इसके बाद पानी डाले।

    4. चाशनी को तब तक उबालें जब तक वह 1 तार से पानी में मिल न जाएं।

    5. चेक करने के लिए अपने अंगूठे के बीच में चाशनी का एक छोटा सा हिस्सा लें। उंगलियों को धीरे से अलग करें, आपको एक ही तार देखना चाहिए। 

    6.चाशनी में 1 छोटा चम्मच नींबू का रस डालें, केसर(वैकल्पिक) और इलायची डालें। मिक्स करें और इसे एक तरफ रख दें।

    Jalebi Ka Batter Kaise Banti Hai

    7. मैदा, मक्के का आटा और हल्दी या प्राकृतिक खाद्य रंग डालें। अगर खमीर उठ रहा है तो मक्के का आटा की जगह बेसन डालें।

    8. अच्छी तरह मिलाएँ और दही डालें। आप दही को छोड़ सकते हैं और बैटर को फेंट कर 12 से 24 घंटे तक  सकते हैं जब तक कि थोड़ा खट्टा स्वाद न आ जाए।

    9. 1/4 कप पानी डालकर शुरू करें। आवश्यकतानुसार उपयोग करें।

    10. पानी मिलाकर गाढ़ा चिकना घोल बना लें। 

    11. बैटर को व्हिस्क(Whisk) से 4 से 5 मिनट के लिए सर्कुलर मोशन में अच्छी तरह से फेंट लें।

    12. आपको इस तरह एक रिबन स्थिरता के साथ एक गाढ़ा घोल मिल सकता है।यह वह स्थिरता नहीं है जो हम चाहते हैं, इसलिए आवश्यकतानुसार और थोड़ा पानी छिड़कें। घोल Free Flowing और मध्यम गाढ़ा होना चाहिए लेकिन बहुत गाढ़ा नहीं होना चाहिए।

    13. नींबू का रस डालें और मिलाएँ। अगर किण्वन कर रहे हैं, तो नींबू का रस न डालें।

    जलेबी तलना

    14. तलने के लिए कढ़ाई में तेल गरम करें। तेल में 1 से 2 टेबल स्पून घी डाल दीजिए। घी स्वाद को बढ़ाता है।

    15. जब तेल गर्म हो जाए तो बैटर में सोडा डालें। हल्का सा मिलाएँ।

    16. सॉस की बोतल में कुछ बड़े चम्मच बैटर डालें। तेल पर्याप्त गर्म होना चाहिए और आंच मध्यम तेज होनी चाहिए। तेल में थोड़ा सा बैटर डालकर चेक कर लीजिए कि तेल गरम है या नहीं। यह बिना भूरा हुए तुरंत ऊपर उठता है।

    17. एक जलेबी बनाएं और स्थिरता चैक करें। अगर यह गाढ़ा हो जाता है, तो थोड़ा पानी छिड़कें और बैटर को थोड़ा पतला करें। अगर पतला और चपटा है तो 1 टेबल स्पून मैदा डाल कर मिला दीजिये। उन्हें Medium High आंच पर कुरकुरा होने तक तलें।

    18. आखिरी 1 मिनट में मैं उन्हें धीमी आंच पर तलता हूं क्योंकि इससे उन्हें थोड़ी देर तक क्रिस्पी रखने में मदद मिलती है। हो जाने के बाद कढ़ाई से निकाल लीजिये।

    19. थोड़ा गर्म चीनी की चाशनी में डालें। अगर चाशनी ठंडी हो गई है। फिर 1 टीस्पून पानी डालकर गर्म करें। जलेबियों को 2 से 3 मिनट के लिए भिगो दें।

    कृपया ध्यान दें कि बहुत गर्म चाशनी में जलेबी डालने से वे जलेबी नरम हो जाएंगे। सुनिश्चित करें कि सिरप ज्यादा गर्म नहीं है।

    20. एक प्लेट में निकाल कर फैला लें। सारे बैटर को सॉस की बोतल में डालें और और जलेबी बना लें। जलेबी को गर्मागर्म सर्व करें।

    सामग्री For Jalebi Kaise Banti Hai

    • 1 कप मैदा (125 ग्राम)
    • 2 टेबल स्पून मक्के का आटा या बेसन अगर किण्वित कर रहे हैं तो(16 ग्राम)
    • 1/8 चम्मच हल्दी या प्राकृतिक खाद्य रंग
    • 1/2 कप दही या पानी अगर बैटर किण्वित कर रहा हो(120 ml)
    • 1/2 कप पानी जरूरत के अनुसार(120ml)
    • 1/2 छोटा चम्मच बेकिंग सोडा या किण्वित घोल के लिए 1 बड़ी चुटकी 
    • 1 चम्मच नींबू का रस
    • आवश्यकतानुसार तेल या घी

    चीनी की चाशनी के लिए

    • 1 कप चीनी (200 ग्राम)
    • 1/2 से 3/4 कप पानी(120 ml to 180 ml)
    • 1 चुटकी केसर (वैकल्पिक)
    • 1/4 छोटा चम्मच इलायची पाउडर
    • 1 चम्मच नींबू का रस
    • 1 सॉस की बोतल या Zip Lock Bag

    जलेबी कैसे परोसें (Jalebi Kaise Banti Hai)

    jalebi banane ki vidhi

    इसे अक्सर अकेले या कुछ खाद्य पदार्थों के साथ मिलाकर खाया जाता है। कुछ लोग जलेबी को दूध के साथ या रबड़ी के साथ खाना पसंद करते हैं। गुजरात में फाफड़ा और जलेबी एक लोकप्रिय संयोजन है। जबकि इंदौर शहर में इसे इंदौरी पोहा के साथ परोसा जाता है। गर्म दूध के साथ जलेबी नाश्ते में भी खाया जाती है।

    rupak kumar swain

    मैं Rupak Kumar Swain, उत्कल विश्वविद्यालय का छात्र हूं। मैं अभी अपना Graduation कर रहा हूँ। एक बहुत ही पारंपरिक भारतीय परिवार से हूँ । लोग के लिए स्वस्थ और स्वादिष्ट लगने वाले व्यंजनों को विकसित करना एक ऐसी चीज है जो मुझे सबसे अधिक पसंद है और यह मुझे बहुत आनंद देता है। मेरे ब्लॉग Khane Ki Farmaish में आपको अलग-अलग तरह के खाने की रेसिपी मिल जाएगी जिसे आप आसानी से आपने घर पर बना सकते हैं।

    कृपया कमेंट बॉक्स में कोई भी Spam Link न डालें।

    एक टिप्पणी भेजें (0)
    और नया पुराने